Rajasthan Agriculture Department Subsidy: राजस्थान सरकार ने किसानों को कृषि यंत्रों पर 80% सब्सिडी देने के लिए जारी की योजना, ऐसे मिलेगा योजना का लाभ

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

Agriculture Department Subsidy– भारत देश में केंद्र और राज्य सरकार किसानों के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओ का संचालन कर उन्हें लाभ प्रदान करती है।

किसानों की आय को बढ़ाने के लिए सरकार का यही प्रयास रहता है कि इन योजनाओ से अधिक से अधिक लाभान्वित किया जाए। किसानों को खेती करने के लिए आज की नई तकनीकी से जोड़ना आवश्यक है।

देश में कृषि की लागत को कम करने और खेती में नई तकनीकी को बढ़ावा देने के लिए सरकार किसानों को इन योजना के तहत भारी सब्सिडी दे रही है।

सब्सिडी के माध्यम से किसानों पर भर कम होगा और वे कृषि यंत्र को लाने में समर्थ होंगे। खेती में काम आने वाले कृषि मशीनरी पर सरकार सब्सिडी प्रदान कर रही है।

इसी क्रम में राजस्थान सरकार ने बजट 202324 में एक घोषणा की थी। यह घोषणा राजस्थान कृषि तकनीकी मिशन के तहत की गई थी जिसके अंतर्गत कृषि यंत्रीकरण को बढ़ावा देने की बात कही थी।

ऐसे किसान जो कृषि यंत्र खरीदने चाहते है उन्हें सरकार सब्सिडी प्रदान करने वाली है। अब यदि आप भी इस योजना के लाभ लेना चाहते हो तो यह आर्टीकल जरूर पढ़ें और जाने सारी डिटेल।

आइये जानते है कि किन-किन किसानों को कृषि यंत्र खरीदने पर सब्सिडी दी जाएगी, इसके लिए क्या-क्या आवश्यक दस्तावेज चाहिए, कृषि यंत्रों पर कितनी सब्सिडी मिलने वाली है, इसकी आवेदन प्रक्रिया क्या है इन सब के बारे में हम विस्तार से जानेंगे। आप बस हमारे साथ इस आर्टिकल के माध्यम से जुड़े रहे।

इन किसानो को कृषि यंत्र खरीदने पर दी जाएगी सब्सिडी

कृषि विभाग ने किसानों को लाभ देने के लिए इस योजना की शर्तें तय की थी। बता दे की आप एक प्रकार की कृषि मशीनरी के लिए 3 साल में एक ही बार आवेदन कर सकते है।

इसके लिए सरकार की तरफ से सब्सिडी दी जाएगी। अब किसानों के मन में यह सवाल भी होगा की आखिरकार इस योजना में लाभ लेने के लिए किन आवश्यक शर्तो को पूरा करना होगा।

हम आपको बता दे की कृषि विभाग के सयुंक्त निर्देशक डॉ. जीआर मटोरिया श्रीगंगानगर ने कहा कि जारी गाइडलाइन के अनुसार किसान के पास जो भी कृषि भूमि हे उसकी रजिस्टरी किसान के नाम होनी चाहिए।

न हो तो यह प्रमाण पत्र राजस्व विभाग से प्राप्त कर प्रस्तुत कर ले। इस प्रकार से किसानों के द्वारा आवेदन करने पर सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

कृषि यंत्र सब्सिडी के लिए आवश्यक दस्तावेज

सरकार कृषि यंत्र खरीदने हेतु किसानों को सब्सिडी प्रदान करेगी। इसके लिए आपको आवेदन के लिए ऑनलाइन माध्यम अपनाना होगा। आवेदन कर आप इस स्कीम का फायदा उठा सकते हो। अब बात यह है कि इसके लिए क्या क्या आवश्यक दस्तावेज चाहिए।

बता दे की इसके लिए आपको एक तो अपनी जमाबन्दी की नवीनतम प्रति चाहिए जो की 6 माह से अधिक पुरानी न हो। इसके साथ किसान का जन आधार कार्ड भी चाहिए। जिसके माध्यम से किसान के लघू और सीमान्त किसान के होने पर सब्सिडी दी जाएगी।

कृषि यंत्रों पर कितनी मिलेगी सब्सिडी

किसानो द्वारा इसमें आवेदन करने के बाद जन आधार से जुड़े खाते में ही सब्सिडी प्रदान की जाएगी। कृषि यंत्रों की खरीद पर आपको सब्सिडी दी जाएगी। किसानों को भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार निर्धारित सीमा तक स्वीकृत कृषि यंत्रों पर अनुदान दिया जा सकता है। 

बता दे की अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, लघु, सीमान्त और महिला कृषकों को इस योजना के तहत कृषि मशीनरी पर कुल लागत की 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी। अन्य श्रेणी के किसानों को कृषि यंत्रों की लागत का कुल 40 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जाएगी।

किसानों को कृषि यंत्र पंजीकृत 2 निर्माता या डीलर से खरीदना होगा

आपको बता दे की इस योजना में आवेदन के बाद आपको प्रशासनिक अनुमति दी जाएगी। यदि आपको प्रशासनिक अनुमति मिल जाती है तो आप राज किसान साथी पोर्टल या राज किसान सुविधा मोबाइल एप्प पर शो होने वाली सूचि में राज्य के किसी भी जिले में पंजीकृत विक्रेताओं से मशीन खरीद ले।

इसके बाद आपको कृषि मशीनरी की कुल लागत (मशीनरी/उपकरण की लागत सभी करो सहित/लागू जीएसटी) पर 50 या 40 फीसदी सब्सिडी दी जाएगी। एक बात यह भी हे की यदि आप प्रशासनिक अनुमति से पहले ही कृषि मशीनरी का क्रय कर लेते हो तो आपको सब्सिडी नही दी जाएगी।

सब्सिडी पर कृषि यंत्र प्राप्त करने के लिए आवेदन प्रक्रिया

आपको इसमें आवेदन के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया अपनानी होगी। ऑफलाइन माध्यम से आप इसके लिए आवेदन नही कर सकते है। बता दे की आप आवेदन के लिए ईमित्र की सहायता भी ले सकते हो या स्वयं द्वारा किसान साथी पोर्टल पर भी आवेदन कर सकते हो।

आपको अपना आवेदन फॉर्म भरके मांगे गए दस्तावेजो को अपलोड कर देना है। पोर्टल पर खरीदी जाने वाली कृषि यंत्र का नाम एवं उसकी बीएचपी श्रेणी का चयन करना होगा। आवेदक को आवेदन पत्र की रसीद ऑनलाइन प्राप्त होगी और आधार में पंजीकृत मोबाइल पर एक एसएमएस प्राप्त होगा।

आपका आवेदन पूर्ण होने के बाद 15 दिनों के भीतर राज किसान साथी पोर्टल पर न्यूनतम कुंजी भरनी होगी। नही तो 15 दिनों के बाद आपका आवेदन रद्द कर दिया जाएगा।

आवेदन करने के बाद आप अपनी स्थिति भी देख सकते हो। आप राज किसान साथी पोर्टल या राज किसान सुविधा मोबाइल एप्प की मदद से आवेदन की स्थिति की जांच कर सकते हो। ऑफलाइन आवेदन पत्र स्वीकार नही किया जाएगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

ध्यान दें: हमारी वेबसाइट केंद्र व राज्य सरकार की विभिन्न प्रकार की योजनाओं की अपडेट सभी लोगों तक सबसे पहले पहुँचाने का कार्य कर रही हैं हमारे सभी पाठकों से अनुरोध हैं की सोशल मीडिया पर हम फॉलो करें।

Leave a Comment